पत्‍नी के बाद अब भाई अफजाल ने जताया डर- 'इसी बांदा जेल में मुख्‍तार को चाय में दिया गया था जहर' – Watchnews24x7.com

पत्‍नी के बाद अब भाई अफजाल ने जताया डर- 'इसी बांदा जेल में मुख्‍तार को चाय में दिया गया था जहर'

पत्‍नी के बाद अब भाई अफजाल ने जताया डर- 'इसी बांदा जेल में मुख्‍तार को चाय में दिया गया था जहर'
Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

लखनऊ
उत्तर प्रदेश के बाहुबली विधायक को पंजाब की रोपड़ जेल से बांदा जेल शिफ्ट किया गया है। इस बीच उनके भाई अफजाल अंसारी और उनकी पत्नी ने विधायक की जान को खतरा बताया है। अफजाल ने मंगलवार को कहा कि उनके भाई मुख्तार की बीमारी की उन्हें चिंता है। इससे पहले उन्हें बांदा जेल में चाय में जहर मिलाकर दिया गया था। वही अफसा अंसारी का कहना है कि कोर्ट में पेशी के दौरान मुख्तार की जान को खतरा है। उन्होंने विकास दुबे का उदाहरण देते हुए एनकाउंटर की आशंका जताई है।

अफसा अंसारी ने बांदा ले जाने के दौरान मुख्तार अंसारी की सुरक्षा की मांग की है। उन्होंने इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है, जिसमें विकास दुबे के एनकाउंटर का उदाहरण दिया गया है। हालांकि, अब तक अर्जी पर सुनवाई नहीं हुई है। मुख्तार की पत्नी ने याचिका में कहा है कि उन्हें इस बात का डर है कि कहीं मुख्तार अंसारी का फर्जी एनकाउंटर ना कर दिया जाए। उन्होंने अपनी याचिका में मुख्तार को रोपड़ से बांदा लाते वक्त के पूरे सफर की वीडियोग्राफी कराने की भी मांग की है।

बता दें कि उज्जैन से कानपुर लाते वक्त कानपुर से थोड़ा पहले विकास दुबे जिस गाड़ी में था, वह पलट गई थी। पुलिस का कहना था कि उसने हथियार छीनकर फायरिंग की कोशिश की और जवाबी कार्रवाई में गोली चलानी पड़ी थी।

अफजाल ने भी जताई आशंका
इससे पहले मुख्तार के भाई अफजाल अंसारी ने भी यूपी लाते वक्त मुख्तार के एनकाउंटर का अंदेशा जताते हुए योगी सरकार को घेरा था। मंगलवार को भी उन्होंने बांदा जेल में अपने भाई मुख्तार अंसारी की जान को खतरा बताया। उन्होंने कहा, ‘वो (मुख्तार अंसारी) बीमार हैं, इसी की चिंता है। उसी बांदा जेल में एक बार इन्हें चाय में ज़हर दे दिया गया था।’ अफजाल ने आगे कहा कि जहां तक न्यायिक प्रक्रिया की बात है, उनके खिलाफ 40-50 मामले होने की फर्जी बातें की जा रही हैं। छोटी-बड़ी धाराओं के 13 मुकदमें एमपी-एमएलए कोर्ट इलाहाबाद में विचाराधीन हैं उनका परीक्षण होगा।

और क्या बोले अफजाल
अफजाल ने मंगलवार को कहा कि अगर वे (यूपी सरकार) मनमानी करते हैं तो ऐसे तानाशाहों का अंत निकट है। तानाशाही को खत्म करने के लिए त्याग की जरूरत होती है। अगर ऐसा कुछ होता है, तो मैं मानूंगा कि मुख्तार ने तानाशाही सरकार के लिए बलिदान दिया है। अफजाल ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट यह सुनिश्चित करेगा कि सत्ता में बैठे लोग किसी की हत्या न करें।

अफजाल ने कहा कि एक सार्वजनिक रैली में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने घोषणा की, ‘गाड़ी यूपी के किस सीमा पर पलटेगी, ये नहीं बताऊंगा।’ एक अन्य मंत्री का कहना है. ‘गाड़ी तो पलटकर रहेगी।’ उनकी नीयत ठीक नहीं है। इसी बांदा जेल में मुख्तार को चाय में जहर दिया गया था। उन्होंने कहा कि हमें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। हमने मुख्तार को चिकित्सकीय सुरक्षा मुहैया कराने के लिए अपील की है।

अखिलेश ने लगाया आरोप
मुख्तार की पत्नी और भाई के अलावा उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी इसी से मिलती-जुलती आशंका जाहिर की है। हालांकि, उन्होंने साफतौर पर कुछ नहीं कहा है। अखिलेश ने कहा कि बीजेपी की जो कार्यशैली है, उससे उत्तर प्रदेश में किसी को भी इंसाफ मिलने की उम्मीद नहीं है। उन्होंने कहा कि अंसारी का परिवार ने कानून पर भरोसा जताया है लेकिन बीजेपी सरकार में न्याय की उम्मीद नहीं की जा सकती।

साभार : नवभारत टाइम्स

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

WatchNews 24x7

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *