रसोई गैस के दाम में वृद्धि के लिए केंद्र की मोदी सरकार जिम्मेदार

रसोई गैस के दाम में वृद्धि के लिए केंद्र की मोदी सरकार जिम्मेदार
Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

रायपुर। रसोई गैस के दाम में हुई वृद्धि के लिए कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मोदी-शाह दिल्ली की गरीब जनता को दो रुपये प्रति किलो के भाव से अच्छा आटा देने वाले थे अब चुनाव हारते ही रसोई गैस के दाम बढ़ाकर प्रति सिलेंडर 150 रुपया ज्यादा वसूलेंगे। मोदी और भाजपा की ना तो नियत ठीक है और ना ही नीति। चुनाव जीतने के अरमान से गरीब जनता को झूठे सुनहरे सपने दिखाने वाले मोदी सरकार महंगाई को नियंत्रित करने में असफल, नकारा ही साबित हुई है। झूठ के सहारे राजनीति करने वाली भाजपा को महंगाई की मार झेल रही गरीब, मजदूर, किसान, गृहणियों के परेशानियों से कोई लेना देना नही है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने रसोई गैस के दाम में वृद्धि पर मौन मोदी सरकार के महिला मंत्रियों, सांसदों पर तंज कसते हुए कहा कि मंत्री निर्मला सीतारमन, स्मृति ईरानी, रेणुका सिंह, सांसद सरोज पांडेय रसोई में खाना पकाती तो पता चलता दाल आटे का भाव, रसोई गैस की बढ़ी हुई कीमत वैसे इन्हें अब क्या फर्क पड़ना है? जब ये विपक्ष में थे तो महंगाई भाजपा के लिए डायन हुआ करती थी और यही भाजपा की नेत्रियां सिलेंडर के ऊपर लकड़ी रखकर आलू-प्याज का माला पहनकर विरोध करती थी। अब बढ़ती महंगाई भाजपा के लिए राष्ट्रवाद बन गई है। प्याज की महंगाई पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा ही था वे प्याज नहीं खाती है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि बीते 6 साल में गैस के दामों में कई बार बेतहाशा वृद्धि हुआ है और मोदी सरकार आम जनता को मिलने वाली सब्सिडी में भारी कटौती कर महंगाई की मार झेल रही जनता के ऊपर कुठाराघात किया है। उज्जवला योजना के हितग्राही पहले ही गैस के महंगे दाम के कारण सिलेंडर में गैस नहीं भरवा पा रहे थे अब गैस के दाम में 150 रुपया बढ़ोत्तरी के बाद उज्ज्वला योजना के हितग्राहियो के पास सिलेंडर बेचने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं बचता है। उज्ज्वला योजना के हितग्राही अब बच्चों को रोटी खिलाने के लिए आटा खरीदे की गैस भरवाये।

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

watchm7j

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *