डेल्टा से अधिक खतरनाक है कोरोना वायरस का नया म्यूटेंट, यूरोप में खौफ के बाद भारत में एंट्री

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

मुंबई
कोरोना की दूसरी लहर कमजोर होने के बीच देश में कोरोना वायरस के नए म्यूटेंट के मौजूदगी की खबर है। INSACOG नेटवर्क मॉनिटरिंग जीनोमिक के वैज्ञानिकों ने कहा कि कोरोना वायरस का नया म्यूटेंट AY.4.2 का पता लगा है। साइंटिस्ट का कहना है कि इस नए म्यूटेंट ने यूरोप में दहशत मचा रखी है। बताया जा रहा है कि यह संभवतः डेल्टा की तुलना में अधिक संक्रामक है। यह म्यूटेंट भारत में “बहुत कम संख्या में” मौजूद है।

ब्रिटेन, रूस के साथ ही इजरायल में बढ़े मामलेयूके, रूस (अगले सप्ताह मास्को में एक लॉकडाउन शुरू होगा) और इजरायल में पिछले सप्ताह में कोरोना मामलों में तेजी से वृद्धि का कारण इस नए म्यूटेंट SARS-CoV-2.AY.4.2 की आशंका जताई जा रही है। साइंटिस्टों का कहना है कि AY.4.2 से जुड़े निष्कर्षों में अभी भी हाईरिस्क को लेकर अनिश्चितता है। वैज्ञानिकों के अनुसार अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि इस म्यूटेंट में गंभीर बीमारी और/या मौत का हाई जोखिम है।

जल्द मिलेगी सटीक संख्या की जानकारीCSIR इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी (IGIB) के निदेशक डॉ अनुराग अग्रवाल ने कहा कि AY.4.2 संशोधित परिभाषा के आधार पर भारत में मौजूद है। हालांकि इसकी मौजूदगी बहुत कम संख्या में, 0.1% से कम।” IGIB INSACOG जीनोमिक निगरानी की मेन लैब में से एक है। डॉ अग्रवाल ने कहा कि भारत में AY.4.2 की अधिक जानकारी और सटीक संख्या जल्द ही उपलब्ध होगी। AY.4.2 डेल्टा वैरिएंट का म्यूटेंट है, जिसे अब तक SARS-CoV-2 वायरस का सबसे खतरनाक रूप माना जाता रहा है।

पहली बार जुलाई में सामने आया था केस21 अक्टूबर को, यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल ने कहा कि उसके डेटाबेस में अब तक AY.4.2 के 10 से कम मामले दर्ज किए गए हैं। जबकि यूके के स्वास्थ्य अधिकारियों ने VUI-21OCT-01 के 15,120 मामले पाए थे। इसका पहली बार जुलाई में पता चला था।

फोटो और समाचार साभार : नवभारत टाइम्स

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

WatchNews 24x7

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *