'पाकिस्तानी दोस्त' पर गरमाई पंजाब की सियासत, ISI लिंक पर कैप्टन का पलटवार

'पाकिस्तानी दोस्त' पर गरमाई पंजाब की सियासत, ISI लिंक पर कैप्टन का पलटवार
Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

चंडीगढ़
पंजाब के पूर्व सीएम कैप्‍टन अमरिंदर स‍िंह ने पाकिस्‍तानी पत्रकार और अपनी दोस्‍त अरुसा आलम पर पाक खुफिया एजेंसी से संबंधों की आशंका जताने वाले आरोपों पर पलटवार किया है। सिंह रंधावा ने कहा था कि इस बात की जांच होगी कि पिछले कई सालों से अमरिंदर सिंह से मिलने आने वाली पाकिस्‍तानी पत्रकार के पाक खुफिया एजेसी आईएसआई से संबंध तो नहीं हैं। इसके जवाब में अमरिंदर सिंह ने कहा कि रंधावा अब निजी हमले करने की कोशिश कर रहे हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने सिंह के हवाले से ट्वीट कर कहा, ‘सुखजिंदर आप मेरी कैबिनेट में मंत्री थे। तब कभी भी आपसे अरुसा आलम को लेकर शिकायत करते नहीं सुना। आलम केंद्र की अनुमति लेकर पिछले 16 साल से भारत की यात्रा कर रही थीं। क्या आप ये आरोप लगा रहे हैं कि इस अवधि में केंद्र में एनडीए और कांग्रेस की अगुआई वाली यूपीए दोनों ही सरकारों की पाकिस्तानी आईएसआई से मिलीभगत रही?’

रंधावा ने गुरुवार को दावा किया था कि अमरिंदर सिंह की लंबे समय से आलम के साथ मित्रता रही है और वह कई वर्षों तक भारत में रहीं और केंद्र सरकार ने समय-समय पर उनके वीजा को बढ़ाया। रंधावा ने मीड‍िया से बातचीत में कहा कि पंजाब प्रदेश कांग्रेस में हुए हालिया घटनाक्रम के मद्देनजर सिंह के पद से हटने के बाद आलम वापस पाकिस्तान चली गईं।

उन्होंने कहा, ‘अरुसा लगभग साढ़े चार साल भारत में रहीं और समय-समय पर उनका वीजा बढ़ाया गया। दिल्ली ने उनका वीजा रद्द क्यों नहीं किया? जब हम अमरिंदर सिंह के खिलाफ गए, तब वह भारत छोड़कर क्यों चली गईं?”

उप मुख्यमंत्री ने कहा, ‘मुझे लगता है कि इन सभी चीजों की जांच किए जाने की जरूरत है और कैप्टन अमरिंदर सिंह को भी इन सवालों के जवाब देने होंगे।’

इस पर पलटवार करते हुए सिंह ने कहा, ‘सुखजिंदर रंधावा, तो अब आप निजी हमले कर रहे हैं। एक महीने पदभार संभालने के बाद अब आपके पास यही सब है लोगों को दिखाने के लिए। बरगारी और मादक पदार्थ मामलों को लेकर किए गए बड़े-बड़े वादों का क्या हुआ?’ उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर ने कहा था कि पंजाब के डीजीपी इस मामले की जांच करेंगे। इस पर अमरिंदर सिंह ने जवाब दिया कि ऐसे समय जब त्‍योहार नजदीक हैं और आतंकवादी हमलों का खतरा है आप पंजाब की सुरक्षा को ताक पर रखकर पंजाब पुलिस के डीजीपी को इस आधारहीन मामले की जांच में उलझा रहे हैं।

फोटो और समाचार साभार : नवभारत टाइम्स

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

WatchNews 24x7

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *