कानूनी लड़ाई हारे डोनाल्ड ट्रंप अब 'स्लो मोशन तख्तापलट' में जुटे, जो बाइडेन से जीत छीनने की नई रणनीति – Watchnews24x7.com

कानूनी लड़ाई हारे डोनाल्ड ट्रंप अब 'स्लो मोशन तख्तापलट' में जुटे, जो बाइडेन से जीत छीनने की नई रणनीति

कानूनी लड़ाई हारे डोनाल्ड ट्रंप अब 'स्लो मोशन तख्तापलट' में जुटे, जो बाइडेन से जीत छीनने की नई रणनीति
Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

चिदानंद राजगट्टा, वॉशिंगटन
मिशिगन के रिपब्लिकन सांसदों की शुक्रवार को वाइट हाउस में पेशी हुई। दरअसल, चुनाव में हार चुके अमेरिकी राष्ट्रपति अब तक कुर्सी बचाने की जुगत में लगे हुए हैं। अब मिशिगन के सांसदों से कहा जा रहा है कि जो बाइडेन-कमला हैरिस को मिला बहुमत स्वीकार करने की जगह मिशिगन के 16 वोट ट्रंप को दिए जाएं। रिपब्लिकन खेमा अभी भी यह दावा कर रहा है कि चुनाव में धांधली की गई जबकि कोर्ट में यह साबित नहीं किया जा सका है।

ऐसा ही 20 इलेक्टोरल वोट वाले पेन्सिल्वेनिया और 10 इलेक्टोरल वोट वाले विस्कॉन्सिन में किया जा रहा है। यहां बाइडेन की जीत हो चुकी है लेकिन इलेक्टोरल वोट्स को अपने पक्ष में करने की उम्मीद रिपब्लिकन पार्टी ने खोई नहीं है। राष्ट्रपति चुनाव में बाइडेन को 306-232 के अंतर से आगे मान लिया गया है।

‘लोकतंत्र विरोध की परिभाषा’
एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर ट्रंप 46 इलेक्टोरल वोटों का उलटफेर कर लेते हैं तो उनके लिए वाइट हाउस में बने रहने की संभावना भी रहेगी। कई राजनीतिक विश्लेषक ट्रंप की इस कोशिश को तख्तापलट मानते हैं। कांग्रेस के पूर्व काउंसल रहे डैनियल गोल्डमैन ने चेतावनी दी है, ‘कानूनी चुनौतियां खत्म हो चुकी हैं। ट्रंप को एहसास है कि अदालतों से फायदा नहीं होगा, इसलिए वह चुने हुए अधिकारियों को लोगों के फैसले को पलटने के लिए मनाने में जुटे हैं।’ डैनियल का कहना है कि यह राजनीतिक तख्तापलट ही लोकतंत्र-विरोधी होने की परिभाषा है।

आक्रामक होते जा रहे तेवर
यही नहीं, ट्रंप से जुड़े लोग अपने फॉलोअर्स से ‘देश को फिर से हासिल करने’ की अपील कर रहे हैं। इसे उग्रवाद को उकसाने की कोशिश माना जा रहा है। ट्रंप किस हद तक जीतने हासिल करने की कोशिश में जुटे हैं, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उनके गुस्से का शिकार रिपब्लिकन नेता भी हो रहे हैं। दरअसल, रिपब्लिकन खेमे में ऐसे भी लोग हैं जो ट्रंप की इन कोशिशों का विरोध कर रहे हैं। ट्रंप ने धमकी दी है कि उन्हें पार्टी के आंतरिक चुनावों में हरा दिया जाएगा। वह अपने वफादार नेताओं से लेकर उन मीडिया संगठनों पर भी आग उगल रहे हैं जो अब उनके दावों पर शक जता रहे हैं।

देश की व्यवस्था पर चेतावनी
ट्रंप के वकील अदालतों में करीब 30 केस हार चुके हैं और अभी भी वे ऐसे दावे किए जा रहे हैं जिन्हें वह कोर्ट में साबित नहीं कर पाते या पेश ही नहीं करते। एक ओर जहां इसे लेकर मजाक किए जा रहे हैं, विशेषज्ञ चिंतित भी हैं और देश की चुनावी प्रक्रिया और राजनीतिक व्यवस्था की हालत को लेकर चेतावनी देते हैं। मिशिगन में ट्रंप ने बाइडेन की जीत के बाद वोटों को सर्टिफाई नहीं करने के लिए और पार्टी के सांसदों से उन्हें जिताने के लिए भी कहा है।

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

WatchNews 24x7

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *