ब्राजील ने दिया चीन को तगड़ा झटका, राष्ट्रपति बोलसोनारो का ऐलान- नहीं खरीदेंगे ड्रैगन से वैक्सीन – Watchnews24x7.com

ब्राजील ने दिया चीन को तगड़ा झटका, राष्ट्रपति बोलसोनारो का ऐलान- नहीं खरीदेंगे ड्रैगन से वैक्सीन

ब्राजील ने दिया चीन को तगड़ा झटका, राष्ट्रपति बोलसोनारो का ऐलान- नहीं खरीदेंगे ड्रैगन से वैक्सीन
Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

रियो डी जेनेरियो
में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। इन सबसे बीच राष्ट्रपति ने ऐलान किया है कि वे चीन की सिनोवेक कंपनी की वैक्सीन को नहीं खरीदेंगे। जबकि, उनके स्वास्थ्य मंत्री ने एक दिन पहले ही दावा किया था कि वे ब्राजील के वैक्सीनेशन प्रोग्राम में अमेरिका, ब्रिटेन और चीन को शामिल करेंगे।

बोलसोनारो बोले- नहीं खरीदेंगे चीन से वैक्सीन
राष्ट्रपति बोलसोनारो ने सोशल मीडिया पर अपने एक समर्थक को जवाब देते हुए लिखा कि निश्चित रूप से हम चीनी वैक्सीन नहीं खरीदेंगे। इस समर्थक ने बोलसोनारो से चीन से कोरोना वायरस की वैक्सीन को नहीं खरीदने का आग्रह किया था। राष्ट्रपति ने कहा कि इस मुद्दे को बाद के दिनों में और स्पष्ट किया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री के दावे के खिलाफ राष्ट्रपति का बयान
मंगलवार को ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्री डुआर्डो पज़ुएलो ने राज्य के राज्यपालों के साथ एक बैठक में कहा कि देश के वैक्सीनेशन प्रोग्राम के लिए उनका मंत्रालय एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय की वैक्सीन के अलावा सिनोवेक की को भी खरीदेगा। साओ पाओलो राज्य बायोमेडिकल रिसर्च सेंटर ब्यूटन इंस्टीट्यूट में सिनोवैक वैक्सीन का ट्रायल पहले से ही चल रहा है।

साओ पोलो के गवर्नर चीनी वैक्सीन के पक्ष में
साओ पाओलो राज्य के गवर्नर जोओ डोरिया ने कहा कि उन्हें जनवरी में वैक्सीनेशन शुरू करने के लिए साल के अंत तक स्वास्थ्य नियामक की मंजूरी मिलने की उम्मीद है। डोरिया ने स्वास्थ्य मंत्रालय की बैठक के बाद कहा कि संघीय सरकार ने सिनोवैक वैक्सीन की 46 मिलियन खुराक खरीदने पर सहमति व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि इतने बड़े देश के वैक्सीनेशन प्रोग्राम में सिनोवेक की वैक्सीन को शामिल करने से हमें बड़ी सफलता मिल सकती है।

एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन बनाएगा ब्राजील
ब्राजील की सरकार पहले से ही एस्ट्राजेनेका और ऑस्कफोर्ड यूनिवर्सिटी की कोरोना वायरस वैक्सीन को खरीदने की तैयारी कर चुकी है। इतना ही नहीं, वे इस वैक्सीन को अपने बायोमेडिकल रिसर्च सेंटर FioCruz में उत्पादन करने की तैयारी भी कर रहे हैं। चीन की वैक्सीन के ट्रायल को लेकर सोमवार को पहली रिपोर्ट जारी की गई थी, जिसमें कहा गया था कि ब्राजील के 9000 लोगों के ऊपर इस वैक्सीन ने अच्छा असर दिखाया है।

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

WatchNews 24x7

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *