टिकटॉक पर बैन की तैयारी में इमरान खान, पाकिस्तान में अश्लीलता के लिए बताया जिम्मेदार – Watchnews24x7.com

टिकटॉक पर बैन की तैयारी में इमरान खान, पाकिस्तान में अश्लीलता के लिए बताया जिम्मेदार

टिकटॉक पर बैन की तैयारी में इमरान खान, पाकिस्तान में अश्लीलता के लिए बताया जिम्मेदार
Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

इस्लामाबाद
पाकिस्तानी प्रधानमंत्री अपने दोस्त चीन के पापुलर ऐप टिकटॉक पर बैन लगाने की तैयारी कर रहे हैं। उनका मानना है कि इस ऐप के कारण में क्राइम और अश्लीलता बढ़ रही है। पाकिस्तानी सूचना मंत्री शिबली फराज ने कहा कि प्रधानमंत्री एक दो बार नहीं, बल्कि 15 बार इस मुद्दे पर मुझसे बात कर चुके हैं। उन्हें इस ऐप से डेटा सिक्योरिटी की चिंता नहीं है, बल्कि वे देश में तेजी से फैल रही अश्लीलता के कारण टिकटॉक समेत कई ऐप्स पर बैन लगाने पर विचार कर रहे हैं।

टिकटॉक से देश में अश्लीलता फैलने का आरोप
पाकिस्तानी मीडिया द न्यूज के साथ बातचीत में शिबली फराज ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान का मानना है कि समाज में अपराध और अश्लीलता बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि इससे पहले यह हमारे सामाजिक और धार्मिक मूल्यों को खत्म कर दे। इस ट्रेंड को तत्काल रोकने की जरूरत है। इमरान ने कहा कि इस तरह के प्लेटफार्म से रेप और बच्चों के खिलाफ अश्लीलता के अपराध को बढ़ावा मिल रहा है।

प्राइवेट टीवी चैनलों के प्रसारण पर कसेगा शिकंजा
उन्होंने कहा कि इमरान खान का ज्यादातर समय यूरोप और अमेरिका में बीता है। इसके बावजूद वे पाकिस्तान की संस्कृति को लेकर चिंतित हैं। वे फिर से हमारी संस्कृति को मजबूत करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि पीएम इमरान चाहते हैं कि जिस तरह तुर्की और ईरान में टीवी चैनलों के प्रसारण पर सरकार का अधिकार है, वैसी ही व्यवस्था पाकिस्तान में भी होनी चाहिए।

क्या चीनी ऐप पर बैन लगा पाएगा पाकिस्तान
पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान देश की संस्कृति को बचाने के लिए लगाने पर विचार कर रहे हैं। लेकिन, क्या उनको यह पता नहीं है कि इस ऐप का स्वामित्व चीन की कंपनी ByteDance के पास है। पाकिस्तान पर पहले से ही चीन का अरबों का कर्ज है। ऐसे में क्या इमरान खान इस पापुलर ऐप प्रतिबंध लगाकर चीन को नाराज करने का जोखिम उठाएंगे।

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

WatchNews 24x7

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *