यूरोपियन यूनियन संसद में ऐंटी-सीएए प्रस्ताव पर वोटिंग टली

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

लंदन : यूरोपियन संसद में भारत के नागरिकता संशोधन कानून पर मार्च में वोटिंग होगी. भारत के लिए इसे एक बड़ी सफलता के रूप में देखा जा रहा है. जानकारों का मानना है की यूरोपीय संसद ने यह कदम इसलिए उठाया ताकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मार्च में ब्रसेल्स में होने वाले द्विपक्षीय सम्मेलन में शिरकत करने की योजना में किसी तरह की रुकावट खड़ी नहीं हो।

बतादें भारत इस प्रस्ताव को लेकर पहले भी इसे देश का आतंरिक मामला बता चूका है. बताया था. इस कानून को संसद में सार्वजनिक बहस के बाद उचित प्रक्रिया और लोकतांत्रिक माध्यमों द्वारा अपनाया गया है.

यूरोपियन संसद में भारत के नागरिकता संशोधन कानून पर मार्च में वोटिंग टलने के बाद जानकारों ने इसे फ्रेंड्स ऑफ़ इंडिया की जीत भी करार दिया है. सूत्रों ने बताया कि भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर मार्च में पीएम मोदी की ब्रसेल्स की यात्रा का आधार तैयार करने के लिए ब्रसेल्स जाने वाले हैं। यूरोपीय सांसद सीएए पर उनसे देश का नजरिया जानने तक मतदान टालने के लिए राजी हो गए हैं।

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

watchm7j

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *