अदाणी फाउंडेशन ने किया स्वच्छाग्रह विद्यालयों को सम्मानित – Watchnews24x7.com

अदाणी फाउंडेशन ने किया स्वच्छाग्रह विद्यालयों को सम्मानित

अदाणी फाउंडेशन ने किया स्वच्छाग्रह विद्यालयों को सम्मानित
Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

रायगढ़: केंद्र सरकार के स्वच्छ भारत मिशन के तहत अदाणी फाउंडेशन द्वारा चलाए जा रहे ‘स्वच्छाग्रह- स्वच्छता का सत्याग्रह’ परियोजना के अंतर्गत, तमनार में एक सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। 22 अगस्त 2018 से शुरू हुई इस परियोजना के माध्यम से, रायगढ़ जिले के 190 स्कूलों से आने वाले लगभग 4 हजार विद्यार्थियों द्वारा, तमनार और रायगढ़ ब्लॉक से सम्बंधित 40000 से अधिक व्यक्तियों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया गया। इस परियोजना के माध्यम से 100 से अधिक गांवों को सफलतापूर्वक शामिल किया गया, जिसके लिए प्रत्येक स्कूल से 20 छात्रों के एक समूह का चुनाव किया गया था। स्वच्छाग्रह आज 19 राज्यों में 5700 से अधिक स्कूलों में पहुंच चुका है, जिसमें 80000 से अधिक सक्रिय स्वच्छाग्रही एवं 6000 से अधिक प्रेरक अपनी सहभागिता निभाकर, राष्ट्रीय स्वच्छ भारत मिशन में अपनी भागीदारी दे रहे हैं।

कार्यक्रम की शुरुआत एस के प्रधान विकास खंड शिक्षा अधिकारी ,प्राचार्य ईलीसबा लकडा ,पटेल सर एवं जिग्नेश विभांडिक ने संयुक्त रूप से तुलसी के पौधे में पानी डालकर की। सभी अतिथियों ने अपने वक्तव्य में कार्यक्रम की सफलता पर संपूर्ण स्वच्छाग्रह टीम को बधाई दी। सत्र भर किए गए क्रियाकलापों के आधार पर सर्वश्रेष्ठ स्वच्छाग्रह प्रेरक स्कूल, सर्वश्रेष्ठ स्वच्छाग्रही, सर्वश्रेष्ठ निबंध, सफाई के सितारे जैसे विषयों पर पुरस्कार दिया गया तथा सभी शालाओं से आए स्वच्छाग्रह प्रेरक व दल के सदस्यों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। जिग्नेश विभांडिक ने सभी प्रशासनिक अधिकारियों, शिक्षा विभाग शाला के प्राचार्य, प्रधानाचार्य, प्रेरकों, स्वच्छाग्रह दल के सदस्यों को धन्यवाद दिया। जिन के सहयोग से यह परियोजना सफलतापूर्वक संपन्न हुई।

कार्यक्रम में मौजूद ब्लॉक शिक्षा अधिकारी एसके प्रधान ने कहा, “अपने प्रयत्नों से समाज में एक बड़ा बदलाव लाया है। इसने भारत को स्वच्छ और स्वस्थ बनाये रखने के लिए महत्वपूर्ण जोखिम उठाने वालों की मानसिकता को विकसित किया है।”

इस कार्यक्रम की तारीफ करते हुए विकास खंड शिक्षा अधिकारी ने कहा कि, “ऐसे कार्यक्रमों की हमारे देश में आवश्यकता है और हमें सबसे पहले खुद को जागरूक बनाने की जरुरत है। अपने आसपास के लोगों को भी साफ सफाई के लिए जागरूक करने की आवश्यकता है। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश युवाओं के व्यवहार परिवर्तन को विकसित करना और प्रोत्साहित करना है, जिससे सामाजिक बदलाव सुनिश्चित किया जा सके तथा छात्र छात्राएं स्वयं से शुरू कर दूसरों को भी साफ सफाई के लिए प्रेरित कर सकें।” स्वच्छाग्रह सबसे बड़े जन आंदोलनों में से एक, ‘सत्याग्रह’ से प्रेरित है, जिसने देश का भाग्य बदल दिया था।

अदाणी फाउंडेशन के बारे में:

1996 में स्थापित, अदाणी फाउंडेशन वर्तमान में 18 राज्यों में सक्रिय है, जिसमें देश भर के 2250 गाँव और कस्बे शामिल हैं। फाउंडेशन के पास प्रोफेशनल लोगों की टीम है, जो नवाचार, जन भागीदारी और सहयोग की भावना के साथ काम करती है।

वार्षिक रूप से 3.2 मिलियन से अधिक लोगों के जीवन को प्रभावित करते हुए अदाणी फाउंडेशन चार प्रमुख क्षेत्रों- शिक्षा, सामुदायिक स्वास्थ्य, सतत आजीविका विकास और बुनियादी ढा़ंचे के विकास, पर ध्यान केंद्रित करने के साथ सामाजिक पूंजी बनाने की दिशा में काम करता है। अदाणी फाउंडेशन ग्रामीण और शहरी समुदायों के समावेशी विकास और टिकाऊ प्रगति के लिए कार्य करता है, और इस तरह, राष्ट्र-निर्माण में अपना योगदान देता है

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

watchm7j

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *