हर हाल में खरीदेंगे 2500 रुपए क्विंटल में किसानों का धान : भूपेश बघेल

हर हाल में खरीदेंगे 2500 रुपए क्विंटल में किसानों का धान : भूपेश बघेल
Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि चाहे जो भी परिस्थितियां निर्मित हों, छत्तीसगढ़ सरकार अपने किसानों का धान 2500 रुपए प्रति क्विंटल के दर से खरीदेगी। उन्होंने इसके लिए छत्तीसगढ़ के लोगों एवं किसानों से सहयोग एवं समर्थन का आग्रह किया है। मुख्यमंत्री श्री बघेल आज बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के सामरी विधानसभा क्षेत्र के ग्राम श्रीकोट में आयोजित लोकार्पण एवं शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने आगे कहा कि किसानों को उनकी उपज का वाजिब मूल्य देना और 2500 रुपए क्विंटल में धान खरीदना अपराध नहीं है। कार्यक्रम में उपस्थित हजारों ग्रामीणों ने हाथ उठाकर इस बात का समर्थन किया। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर सामरी विधानसभा क्षेत्र को 59 करोड़ रुपए की लागत के विकास कार्याें का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। सामरी विधायक श्री चिंतामणि महाराज की मांग पर मुख्यमंत्री ने चांदो को तहसील बनाने के साथ ही अन्य मांगो को बजट में शामिल करने की बात कही।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस अवसर पर संत गहिरा गुरूजी का पुण्य स्मरण करते हुए कहा कि उन्होंने इस क्षेत्र में समाज को जागरूक किया। एक नई दिशा और जीवन जीने की शिक्षा दी। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में हजारों की संख्या में उपस्थित लोगों को सामरी क्षेत्र के विकास के लिए बधाई दी। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि उनकी सरकार छत्तीसगढ़ के ग्रामीणों और किसानों की खुशहाली के लिए काम कर रही है। 2500 रुपए क्विंटल में धान खरीदी, ऋण माफी, बिजली बिल हाफ और प्रत्येक परिवार को 35 किलो चावल देने के वायदेे को निभाने का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि इससे छत्तीसगढ़ में खुशहाली आई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश में मंदी है लेकिन छत्तीसगढ़ में इसका कोई प्रभाव नहीं है। इस साल छत्तीसगढ़ के बाजारो में रौनक रही है। सराफा बाजार में 84 प्रतिशत, आटोेमोबाईल सेक्टर में 13 प्रतिशत सहित व्यवसाय के अन्य क्षेत्रों में भी वृद्धि हुई है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस मौके पर प्रदेश सरकार की सुराजी गांव योजना का भी जिक्र किया और कहा कि पशुधन की बेहतरी के लिए राज्य में 2000 से अधिक गौठान निर्मित किए गए हैं। नालों में बहते वर्षा जल को रोकने और भू’-जल स्तर को बेहतर बनाने के लिए राज्य के 1028 नालों के बंधान का काम शुरू करने जा रहे हैं। इससे पेयजल, सिंचाई, निस्तार के लिए जल उपलब्ध होगा। उन्होंने ग्रामीणांे एवं किसानों से आग्रह किया कि वे धान के पैरे को जलाने के बजाए गौठानों में दान करें ताकि वहां पशुओं के लिए चारे की व्यवस्था हो सके। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने शासन की विभिन्न योजनाओं के तहत् लाभांवित हितग्राहियों को सामग्री एवं अनुदान राशि का वितरण किया।
कार्यक्रम को पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस.सिंह देव, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, उच्च शिक्षा मंत्री एवं बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के प्रभारी मंत्री श्री उमेश पटेल ने संबोधित किया और कहा कि संत गहिरा गुरूजी ने सामरी-श्रीकोट जैसे अभावग्रस्त क्षेत्र को अपनी कर्मस्थली बनाकर लोगों को जागरूक और शिक्षित किया। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार के 9 महीने के कार्यांे का उल्लेख करते हुए कहा कि इसकी गुंज पूरे देश में है। छत्तीसगढ़ सरकार राज्य के विकास और यहां के लोगों की तरक्की के लिए काम कर रही है। अपने स्वागत उद्बोधन में क्षेत्रीय विधायक श्री चिन्तामणि महाराज ने मुख्यमंत्री सहित सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कुसमी में कन्या महाविद्यालय एवं व्यवहार न्यायालय प्रारंभ करने, कुसमी स्टेडियम का जीर्णाेद्धार, श्रीकोट में संचालित संस्कृत हायरसेकेण्डरी स्कूल एवं महाविद्यालय को शत् प्रतिशत अनुदान एवं आहाता का निर्माण कराने, चांदो को तहसील बनाने, सामरी में कन्या छात्रावास, आई.टी.आई एवं ग्रामीण बैंक की शाखा खोलने, शंकरगढ़ में कलेक्टर न्यायालय का लिंक कोर्ट शुरू करने सहित ग्रामीण क्षेत्र में सड़को एवं पुलिया का निर्माण की मांग रखी।
इस अवसर पर कार्यक्रम में सरगुजा विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री खेल साय सिंह, जशपुर विधायक श्री विनय भगत, लुन्ड्रा विधायक डॉ.प्रीतम राम, भटगांव श्री पारसनाथ, पूर्व विधायक श्री महेश्वर पैंकरा सहित सर्व श्री अशोक, हरीश मिश्रा, अब्दुल्ला खान, सत्यनारायण सिंह, टी.पी.गुप्ता, बहादुर जी एवं अन्य जनप्रतिनिधि तथा बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

watchm7j

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *